• Sat. Jun 22nd, 2024

धर्म का जहर: देहरादून में छात्र पर 20 -25 युवकों ने किया पेचकस, धारदार हथियारों से प्राणघातक हमला, फेसबुक पर तीन माह पहले की थी सांप्रदायिक टिप्पणी


देहरादून: सांप्रदायिकता का जहर युवा वर्ग के दिमाग पर चढ़ चुका है। इसका उदाहरण देहरादून में 27 जुलाई की शाम को मिला, जब तीन माह पहले फेसबुक पर की गई एक टिप्पणी से नाराज मुस्लिम समुदाय के 20 से अधिक युवकों ने वीरवार शाम गुरु राम राय यूनिवर्सिटी के एक छात्र को घेर लिया। हमलावरों ने पेचकस छुरी, चाकू और अन्य हथियारों से उसके सिर पर वार दर वार कर उस पर हमला कर उसके प्राण लेने का प्रयास किया। बेहद गंभीर घायल छात्र को महंत इंदिरेश अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसकी हालत नाजुक बताई जा रही है। घटना से संबधित क्षेत्र में तनाव की स्थिति बन गई है। पुलिस फोर्स मौके की नजाकत को देखते हुए तैनात हो गई है। घायल छात्र के पक्ष में सैकड़ों लोगों की भीड़ हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग पर डटी है। पुलिस ने मामले में कुछ युवकों को हिरासत में लिया है। उनके पक्ष में मुस्लिम समुदाय के लोग चौकी पर डटे हुए हैं। देर रात घायल छात्र अमन भंडारी की बहन की तहरीर पर फैजल, तला, शोएब , अरशद सहित अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

घटना देहरादून केपटेल नगर थाना क्षेत्र के इंद्रेश हॉस्पिटल के पास की है। पटेल नगर इंस्पेक्टर सूर्य भूषण नेगी ने बताया कि अमन भंडारी सरस्वती विहार में रहता है और एसजीआरआर कॉलेज का छात्र है। अमन भंडारी ने करीब तीन माह पहले सोशल मीडिया साइट पर एक सांप्रदायिक टिप्पणी कर दी थी। मामला पुलिस तक पहुंचा और इसको लेकर दोनों पक्ष में विवाद भी चल रहा था। दोनों पक्षों को बुलाकर पुलिस ने समझौता करा दिया था। अमन भंडारी ने जो पोस्ट की, उसे डिलीट कर माफीनामा भी लिख कर दे दिया था। आरोप है कि इसके बाद भी अमन भंडारी को लगातार धमकियां मिल रही थी। दो दिन पहले अमन भंडारी का कॉलेज खुला।

इसके बाद 27जुलाई वीरवार शाम अमन भंडारी जब स्कूटी से लालपुल से इंद्रेश हॉस्पिटल की ओर जा रहा था, इसी दौरान उसको कुछ युवकों ने रोक लिया। बताया गया करीब 20 से अधिक युवक रहे होंगे। इन युवकों ने अमन के साथ मारपीट शुरू कर दी। सिर और शरीर पर धारदार और अन्य लोहे के उपकरणों से जानलेवा वार किए गए। अमन भंडारी लहूलुहान हो गया। आसपास के लोगों ने बामुश्किल उसको बचाया और अस्पताल पहुंचाया।
छात्र पर कातिलाना हमले की जानकारी मिलने पर सेकडो लोग इंदिरेश अस्पताल के बाहर जमा हो गए। बनाने के लिए पुलिस बल को तैनात किया गया। आक्रोशित भीड़ शहर में गुंडागर्दी कर माहौल खराब करने वाले हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग करने लगी। दो समुदायों का मामला होने के कारण पुलिस फोर्स को चाक चौबंद कर दिया गया।

पुलिस आरोपियों की घर पकड़ में जुटी है। जानकारी के मुताबिक आरोपी गांधीग्राम और मेंहूवाला क्षेत्र के रहने वाले हैं और इनमें से कुछ को पुलिस हिरासत में भी ले चुकी है। अमन के पक्ष में आए लोगों ने आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी के लिए अल्टीमेटम दिया है। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
नॉर्दर्न रिपोर्टर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न०:-7017605343,9837885385