• Sat. Jun 22nd, 2024

रणुकी गाड एक साल से कंपा रही हाड


उत्तरकाशी : जिले में पिछले साल आई भारी बारिश से मची तबाही में बौन गांव में रणुकी गाड़ पर बनी पुलिया बह गई थी। तब से लोग यहां पर जान का रिस्क लेकर आवाजाही को विवश है। खासकर बच्चों के लिए तो बारिश होने पर यहां से गुजरना बड़ा खतरनाक है।

आपदा की भेंट चढ़े इस बौन-पंजियाला पैदल पुलिया का निर्माण न होने पर स्थानीय ग्रामीणों में भारी नाराजगी है। 19अगस्त शनिवार को जिला पंचायत सदस्य मनीष राणा के नेतृत्व में बौन- पंजियाला के ग्रामीणों के साथ एक वर्ष पूर्व बाढ़ में बही इस पुलिया के पास सांकेतिक प्रदर्शन किया। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि यदि पुलिया का निर्माण कार्य जल्द नहीं होता तो जल्द डीएम कार्यालय में बड़ा प्रदर्शन होगा।

ग्रामीणों ने पुल का निर्माण न होने पर नाराजगी व्यक्त की और शासन प्रशासन के विरूद्ध जमकर नारेबाजी की। जिला पंचायत सदस्य मनीष राणा ने कहा कि बौन गांव से पंजियाला को जोड़ने वाला पैदल पुल भारी बारिश के कारण राणुकी गाड के उफान पर आने के कारण क्षतिग्रस्त हो गया था। ईसके बाद से बौन गांव के ग्रामीणों एवं राइंका को जाने वाले छात्र-छात्राओं के लिए भारी मुश्किल हो गई है। जिला प्रशासन से कई बार पत्राचार कर पुल निर्माण की गुहार लगाई गई। लेकिन एक वर्ष का समय बीत जाने के बाद भी किसी ने सुध नही ली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
नॉर्दर्न रिपोर्टर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न०:-7017605343,9837885385