• Sat. May 18th, 2024

केदार घाटी में फटा बादल, बहुत कुछ तहस नहस,


रूद्रप्रयाग : केदार घाटी में बादल फटने से केदारनाथ पैदल मार्ग पर लिंचोली में आपदा आ गई है। यहां कुछ लोगों के दबने की सूचना है। रूद्रप्रयाग जिले की नदियां खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं। जिस कारण नदी किनारे लोगों को सुरक्षित स्थान पर भेजा गया। इसके अलावा मद्महेश्वर में भी मुख्य मार्ग का पुल टूटने से 100 से अधिक लोगों के फसने की सूचना है।

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने बताया कि लिंचोली क्षेत्र में बीती रात्रि व प्रातः अतिवृष्टि होने के कारण खाली कैंप से पहाड़ी की तरफ गधेरा आ गया। जिस कारण यहां नेपाली बसावट में मलबा आने से कपिल बहादुर (27) पुत्र कालू बहादुर, सुखद कैलाली मलबे में दबे मिले। रेस्क्यू दल ने व्यक्ति को ढूंढा, जो मृत अवस्था में मलबे में मिला।

यह अपने बच्चों और पत्नी के साथ अस्थाई टेंट में सोया था। बाकी सभी परिजन सुरक्षित मिले। मृतक को उसके परिजनों के समक्ष आवश्यक कार्रवाई को थाना सोनप्रयाग भिजवाया जा रहा है। जिला पंचायत सदस्य कालीमठ घाटी विनोद राणा ने बताया कि कल रात तेज बारिश से मद्महेश्वर धाम के पड़ाव और अन्तिम गांव गोंन्डार में बणतोली पैदल पुल बहने से लगभग 100 से अधिक लोग फंसे हुए हैं, जिसमें स्थानीय और तीर्थयात्री हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
नॉर्दर्न रिपोर्टर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न०:-7017605343,9837885385