• Sat. Jun 22nd, 2024

गढ़वाल विश्वविद्यालय के गोल्डन जुबली सेरेमनी में हस्तियों का होगा सम्मान


श्रीनगर। हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय की स्थापना को एक दिसंबर को 50साल पूरे हो जाएंगे। विवि की 51वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में स्वर्ण जयंती समारोह का आयोजन किया जा रहा है।
आयोजन को लेकर विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. अन्नपूर्णा नौटियाल ने पत्रकार वार्ता की। इस अवसर पर उन्होंने विश्वविद्यालय की स्थापना से लेकर अब तक की 50 वर्षों की स्वर्णिम यात्रा की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि राज्य विश्वविद्यालय से केन्द्रीय विश्वविद्यालय के रूप में स्थापित होते हुए गढवाल विश्वविद्यालय लगातार विकसित हो रहा है। आज विश्वविद्यालय, भारतीय हिमालय केन्द्रीय विश्वविद्यालय संघ (आईएचसीयूसी) को साथ लेकर भारतीय ज्ञान परम्परा और हिमालय सांस्कृतिक विरासतों का उच्च शिक्षा में शोध एवं प्रबन्धन की दिशा में उल्लेखनीय कार्य कर रहा है। वहीं उन्होंने बताया कि 1 दिसम्बर को, विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए अह्म योगदान देने वाले पांच शख्सियतों को सम्मानित किया जाएगा। वहीं उन्होंने बताया कि गढ़वाल विश्वविद्यालय से अध्ययन कर अनेक छात्र आज देश-विदेश में उच्चपदों पर आसीन है जो विश्वविद्यालय के लिए गौरव का विषय है।
विश्वविद्यालय की स्वर्ण जयंती समारोह में ‘योगदान का सम्मान’ के अन्तर्गत श्री कुंज बिहारी नेगी, श्री कृष्णानन्द मैठाणी, श्री वीरेन्द्र कुमार पैन्यूली, श्री मंजूर अहमद बेग और श्री जगदम्बा प्रसाद रतूड़ी को विश्वविद्यालय स्थापना आन्दोलन में उल्लेखनीय योगदान के लिए सम्मानित करेगा, वहीं विश्वविद्यालय से शिक्षा ग्रहण कर अपने-अपने क्षेत्रों में बड़ी उपलब्धि हासिल करने वाले पूर्व छात्रों को विश्वविद्यालय ‘उपलब्धियों का सम्मान’ शीर्षक के अन्तर्गत सम्मानित करेगा।
स्वर्ण जयंती के अवसर पर विश्वविद्यालय ने पांच विशिष्टि व्यक्तित्व, गढ़वाल विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र-रियर एडमिरल ओम प्रकाश सिंह राणा (सेवानिवृत) पूर्व महानिदेशक नेवल आरमामेंट इन्स्पेक्शन एवं पूर्व जनरल मैनेजर ब्रह्मोस ऐरोस्पेस, डॉ राजेन्द्र डोभाल, कुलपति स्वामी राम हिमालयन विश्वविद्यालय एवं पूर्व महानिदेशक यूकोस्ट, डॉ सुनील नौटियाल, निदेशक, जीबी पंत राष्ट्रीय हिमालय पर्यावरण संस्थान, अल्मोड़ा, प्रो. वजीर सिंह लाकरा, पूर्व कुलपति एवं निदेशक आईसीएआर केंद्रीय मात्स्यिकी शिक्षा संस्थान, मुम्बई और डॉ रेखा उनियाल, संस्थापिका एवं प्रधानचार्य रेनबो पब्लिक स्कूल, श्रीनगर एवं चौरास को सम्मानित करने का निर्णय लिया है।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति प्रो आरसी भट्ट ने कहा कि विश्वविद्यालय जहां शिक्षा के क्षेत्र में एनईपी के तहत नये-नये पाठयक्रमों का शुरू कर रहा है वहीं विश्वविद्यालय केन्द्रीय संस्थान के रूप में आज देश के सभी छात्र-छात्राओं को अपने सुन्दर परिसरों और अत्याधुनिक तकनीकों के माध्यम से आकर्षित कर रहा है। इस अवसर पर स्वर्ण जयंती समारोह के समन्वयक प्रो वाई पी रैवानी ने बताया कि स्वर्ण जयंती समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में प्रदेश के मुख्यमत्रीं पुष्कर सिंह धामी ऑनलाइन माध्यम से सम्बोधित करेगें तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में माननीय विधायक विनोद कण्डारी समारोह में शिरकत करेंगें साथ ही नार्थ ईस्ट हिल यूनिवर्सिटी, सिक्किम तथा मणिपुर केन्द्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति कार्यक्रम में मौजूद रहेगें।
आईक्यूएसी के निदेशक प्रो आरसी सुन्दरियाल ने बताया कि समारोह के दूसरे चरण में भारतीय हिमालय केन्द्रीय विश्वविद्यालय संघ (आईएचसीयूसी) के अतंर्गत आने वाले सभी केन्द्रीय विश्वविद्यालयों के कुलपति और प्रतिनिधि बैठक में ऑनलाइन तथा ऑफलाइन माध्यम से विभिन्न परियोजनाओं पर एमओयू करेगें साथ ही आईएचसीयूसी की इस संगोष्ठी में जी बी पंत संस्थान अल्मोड़ा को नये सदस्य बनाने के रूप में एमओयू भी होगा।
इस अवसर पर स्वर्ण जंयती समारोह के मीडिया समन्वयक प्रो एमएम सेमवाल ने पत्रकारों का स्वागत करते हुए कार्यक्रम की रूपरेखा बताई तथा कार्यक्रम में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ विश्वविद्यालय के स्थापना के लिए आन्दोलन से लेकर अब तक की स्वर्णिम यात्रा को लेकर एक डॉक्यूमेन्ट्री का प्रदर्शन भी किया जायेगा।
इस अवसर पर डॉक्टर सर्वेश उनियाल, विजयानंद बहुगुणा , महेश डोभाल आदि उपस्थित थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
नॉर्दर्न रिपोर्टर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न०:-7017605343,9837885385