• Thu. Apr 25th, 2024

सीबीसीएस लागू होने के बाद कोर्स पूरा करने को मिल रहा गोल्डन चांस


श्रीनगर। हेमवती नन्दन बहुगुणा केंद्रीय गढ़वाल विश्वविद्यालय सीबीसीएस (choice based credit system) लागू होने के बाद से पंजीकृत छात्रों को course पूरा करने का एक अंतिम मौका दे रहा है। यानि कि वर्ष 2015 -16 से पंजीकृत छात्र- छात्राओं को किसी भी सेमेस्टर परीक्षा का एक पेपर देने का अवसर दिया जा रहा है। यह गोल्डन चांस विश्वविद्यालय के स्वर्ण जयंती वर्ष के वर्ष के उपलक्ष्य में दिया जा रहा है।
गढवाल विश्वविद्यालय में स्नातक (UG) और स्नातकोत्तर (PG) पाठ्यक्रमों में सीबीसीएस का प्रावधान सत्र 2015-16 से प्रारम्भ किया गया था। उक्त प्रावधान के अनुसार छात्र-छात्राओं को अपना स्नातक (U.G.) पाठ्यक्रम 06 वर्षो के अन्दर यानी 2020-21 तक और स्नातकोत्तर (P.G.) पाठ्यक्रम 04 वर्षो के अन्दर यानी 2018-19 तक पूरा करना था।
विश्वविद्यालय के कुलसचिव प्रोफेसर एनएस पंवार के अनुसार कुछ छात्र-छात्रायें, जो ज्यादातर ग्रामीण पृष्ठभूमि के हैं। सीबीसीएस नियमों से अनभिज्ञता के कारण और इसी दौरान कोराना महामारी के चलते अपना पाठ्यक्रम पूरा नहीं कर सके हैं।
इसलिए विश्वविद्यालय की स्वर्ण जयंती के मौके को देखते हुए विगत 30 मई की बैठक में कार्य परिषद ने शिक्षण सत्र 2015-16 सीबीसीएस के शुरू किये जाने से) एवं सत्र 2021-22 (एन०ई०पी० के लागू होने तक) के बीच नामांकित हुए ऐसे छात्र-छात्राओं को किसी भी सेमेस्टर के एक पेपर ( थ्योरी या प्रैक्टिकल) की परीक्षा उत्तीर्ण करने का एक अंतिम अवसर दिया है। जिसको भविष्य के लिये नजीर नहीं माना जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
नॉर्दर्न रिपोर्टर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न०:-7017605343,9837885385